बे लज्जयो, लज्ज तुहानूं नई सिठनियां

साड्डी तां कुड़ी तिल्ले दी तार ऐ

मुंडा तां ऐन्दा लगदा कुम्हार ऐ,

जोड़ी तां फबदी नहीं-बेलज्जयो
लज्ज तुहाD नई। बेलज्जयो-३

आयों वे तू आयो वे, मां कित्थे छड आयों वे-2

आउंदी ऐ, आउंदी ऐ,
सुर्थी बिन्दी लाउंदी ऐ-2

जीजा खड़ा वे खलोता तेरा लक थक जाऊ 2

अड़या खड़ा वे खलोता तेरा लक थक जाऊ 2

मगरां मैंणां नूं खड़ाले अड़ोखणा लग जाऊ 2

आयों वे तूं आयों वे, मैंणा कित्थे छड आयों वे। 2

आउंदी ऐ, आउंदी ऐ, ओ बच्चे पई खिड़ान्दी ऐं। 2
आयों वे तूं आयों वे भाभी नूं कित्थे छड आयों वे। 2

आउंदी ऐ, आउंदी ऐ, ओ यारां दे नाल आउंदी ऐ। 2

साडी तां कुडी साग खाउंदी-2

मुंडे दी मां वेखो अंडे बनाउंदी-2

गल्ल तां बण्दी नई-बेलज्जयो लज्ज तुहागूं नई-2

साडी तां कुड़ी पाउंदी सरवार वे मुंडे दी मां नू चढ़या बुखार ऐ

डाक्टर ता आउंदा नई- बेलज्जयो लज्ज तुहानूं नई-2

कुड़मा कलड़ा क्यों आयो वे अज दी घड़ी,

नाल जोरू क्यूं न लायों वे अज दी घड़ी।

नाल जोरू क्यूं न लायो वे अज दी घड़ी-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *