सुन बाबल मेरा PUNJABI LOKGEET

आले ते जाले बाबल गुड्डियां,

 मेरा नहीं खेडन ते चाव,

ए सुण बाबल मेरा..

मां रोवे मेरी अंखियां मींचे,

 प्यो रोवे दरियाव-ए सुण बाबल मेरा.

वीर रोवे सब लोकी रोवें,  

मेरियां भाबियां दे मन चाव-ए सुण बाबल मेरा।

सखी सहेली बाबले बिछड़ी,

 मेरा नहीं मिलन ते चाव-वे सुण बाबल मेरा।

आले ते जाले बाबल गुड्डियां,

 मेरा नहीं खेडन दा चाव, ए सुन बाबल मेरा।

आले ते जाले……..  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *