थे ढोलकड़ी ढमका दयो राजस्थानी लोकगीत

बलिहारी जाऊं सा।। थे ढोलकड़ी… बादल म्हारो लहंगा जी, किरण है म्हारी मगजी। मैं तारागण रा झुमका झुमकती चलूंसा ।। थे ढोलकड़ी… चालूं तो कहियाँ…

चौमासो आयो रांगला राजस्थानी लोकगीत

म्हारी दोराणया जेठानियां रूसगी, म्हारी सासू जी मणावण जाय। चौमासो आयो रांगला… मैंने आला में बोई बाजरी, मैंने आला में बोई ज्वार। चौमासो… म्हारी फूटन…

करेलवा लट पर छाई नागर बेल राजस्थानी लोकगीत

करेलवा लट पर छाई नागर बेल करेलवा लट अन्न की गांठ गठीली होय, बालापन की दोस्ती जी घणी हठीली होय। करेलवा… मेंहदी हाथ रचाइयां जी…

ओ ननदी के वीरा राजस्थानी लोकगीत

म्हाने, चूंदड़ मंगा दे ओ, ओ ननदी के वीरा। थाने यूं, थाने थाने यूं धूंघट पै राखूगी ओ ननदी के वीरा। म्हाने बोरलो घड़ा दे…

उड उड रे कागला राजस्थानी लोकगीत

उड उड रे म्हारो कालो रे कागला जद म्हारा पिऊ जी घर आवे। आवे रे जद… जो तू उन कर सगुन मनाचे, जनम जनम गुण…

म्हारो उड़नखटोलना राजस्थानी लोकगीत

म्हारे उड़न खटोलना ओ बालमा। गणी नातु आईओ बालगा। तेरी लाल बिजुनियां देख के, डोलत चली आई ओ बालमा।। म्हारो…. बरखा तु आई ओ बालमा…

घूमर नखराली राजस्थानी लोकगीत

म्हारी घूमर छै नखराली ए मां गौ री घूमर रमवा में जास्यों म्हारी रूणक-झुणक पायल बाजे ऐ मां ।। घूमर… म्हारी आलीजारी बोली प्यारी लागे…

चूणियां खणाक जासी राजस्थानी लोकगीत

म्हारी चूड़ियां खणक रे खणक जासी म्हारी पायलिया रा धूघरा धमक जासी। म्हारी चूड़ियां….. परदेस्यां गया पीऊ घर आसी, पिऊ घर आसी, आज सूनो सो…

मैं पालो कैसे काढूंगी राजस्थानी लोकगीत

म्हारे हाथड़ियां रे बीच, छाला पड़ गया म्हारा मारू जी मैं पालो कइयां काटूंगी… राखड़ी तो म्हारे बाप के सूं आई तो जुठराणीरी गाड़ी मन…

श्याम रंग साहिबो ननद थारो वीर राजस्थानी लोकगीत

पीलो पीलो घाघरो गुलाबी रंग चीर । श्याम रंग साहबो ननद थारो बीर ।। मीठी लागे रूसना, मनावे जद श्याम, दिन दस बोलने रो म्हारो…