मधाणियां 2 Madhaniya 2 punjabi Lok Geet

मेरी रांगली मधाणी बावां गोरियां तेरे आवण दी उम्मीद विच मैं हौले-हौले, दुध रिड़का। मेरी रांगली मधाणी……. किसे दी नजर लगी, टुट गया साथ वे…